Click here online shopping

Sunday, August 02, 2015

Barish aur dehat

Abhi sham ka waqt hai aur bunda bandi ho raha raha hai barrish aur dehat ka lagao kabhi nazar andaz nahi kiya ja sakta dehati zindgi ka kuch apna hi maza hai magar waqt ke sath is me bhi tabdili hoti ja rahi hai pahle jo rishto ki chashni thi us me girawat aai hai hir bhi dehati zindgi anmol hai

No comments:

विशिष्ट पोस्ट

सामान्य(मुस्लिम)जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को हटाने से संबंधित निर्णय को वापस ले सरकार वरना सड़क से लेकर संसद तक होगा आंदोलन :- मोहम्मद कमरे आलम

आठ वर्षों से कार्य कर रहे सामान्य मुस्लिम जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को एक झटके में बिहार सरकार द्वारा सेवा से यह कह कर हटा दिया...