Click here online shopping

Tuesday, December 29, 2015

ग़ज़ल

बहादुर शाह ज़फ़र
-------------------
बात करनी मुझे मुश्किल कभी ऐसी तो न थी।

जैसी अब है तेरी महफिल कभी ऐसी तो न थी।।
ले गया छिन के आज तेरा सब्रो क़रार।
बे क़रारी तुझे ऐ दिल कभी तो न थीं ।।
चश्मे क़ातिल मेरी दुश्मन थीं हमेशा लेकिन।
जैसी अब हो गई क़ातिल कभी ऐसी तो न थी।।
उसकी ऑखो ने खुदा जाने क्या क्या जादू।
के तबीयत मेरी माएल कभी ऐसी तो न थी।।
क्या सबब तु जो बिगड़ता हैं ज़फ़र पर हर बार।
खु तेरी हुर शमाएल कभी ऐसी तो न थी।।
----------------------------------------------

Monday, December 28, 2015

उदास लम्हें

 आज मैं काफी उदास हूँ क्योंकि मेरा सबसे छोटा लड़का मो अरसलान पिछले सात दिनों से बीमार चल रहाहै ।

Friday, December 25, 2015

प्रखणड परिहार के तालिमी मरकज शिक्षा स्वयंसेवक मुख्यमंत्री अक्षर ऑचल योजना से आज भी वंचित

परिहार सीतामढ़ी
वैकल्पिक एवं नवाचारी शिक्षा कार्यक्रम, बिहार शिक्षा परियोजना सीतामढ़ी के अन्तर्गत तालिमी मरकज़ केन्द्र प्राथमिक विद्यालय एकडणडी उर्दू कन्या परिहार जिला सीतामढी केन्द्र सख्या 21/परिहार में फरवरी 2010 से शिक्षा स्वयंसेवक के रूप में कार्यरत था 10 दिसम्बर 2012 से सरकार के आदेशानुसार तालिमी मरकज़ का संचालन जन शिक्षा निदेशालय बिहार पटना के अधीन कर मुख्यमंत्री अक्षर आॅचल योजना से जोड़ दिया गया ।
सीतामढी जिला मे जिला कार्यक्रम पदाधिकारी साक्षरता ने फरवरी 2010 से कार्यरत शिक्षा स्वयंसेवक को जुलाई 2013 मे दो दिवसीय प्रशिक्षण दे कर मुख्यमंत्री अक्षर आंचल योजना से जोड़ दिए मगर मेरे केन्द्र को बिना किसी कारणों के अवैध राशि नही देने की वजह से छोड़ दिया ।मै कई आवेदन सम्बंधित पदाधिकारियों से लेकर मुख्मंञी बिहार पटना को दे चुका हूँ मगर आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई ।मेरे केन्द्र को मुख्यमंत्री अक्षर आॅचल योजना से नही जोड़े जाने की वजह से मेरे समक्ष भूखमरी की स्थिति उत्पन्न हो चुकी है।
        मालूम हो कि शिक्षा विभाग के तत्कालीन प्रधान सचिव अमर जीत सिन्हा के पञांक -13/सा2-18/2012 2670दिनांक 03/12/12 में स्पष्ट आदेश हैकि पूर्व के टोला सेवक एंव तालीमी मरकज के शिक्षा स्वयं सेवक इस योजना में वी○टी○(शिक्षा स्वयं सेवक )का कार्य करेंगे ।


Sunday, December 13, 2015

बैंक ऑफ इंडिया के कर्मी ने किया चेक की राशि का गबन


बैंक ऑफ इंडिया भिठ्ठामोड़ सीतामढ़ी के कर्मी ने चेक की राशि हड़प ली
---------------------------------------------------
परिहार सितामढ़ी(बिहार ) एक मुस्लिम युवक मो मुजफफर अंसारी पिता मो मंजूर अंसारी (मंजूर अंसारी बी आर सी परिहार मे चपरासी हैं )को उसके मालिक ने मजदूरी का 40हजार रूपय का Bearer cheque दिया था जिसको लेकर वह 26-10-15 Bank of India Bhitthamodh गया और भुगतान के लिए के चेक बैंक कर्मी धीरेन्द्र झा को दिया उसने कहा कि अभी बैंक मे पैसा नहीं है डेढ़ घंटा बाद आएं जब तक सीतामढ़ी से पैसा आ जाएगा और चेक अपने पास रखा लिया ।(मो मुजफफर अंसारी ने चेक पर अपना हस्ताक्षर नहीं किया था)
            डेढ़ घंटा बाद जब चेक के भुगतान के लिए गया तो कहने लगा चेक का भुगतान तो दूसरा आदमी ले गया है।बैंक कर्मी धीरेन्द्र झा ने bearar cheque पर किसी से हिंदी में हस्ताक्षर कराकर चेक की राशि का भुगतान लेकर राशि हड़प ली (मुजफफर उरदू में हस्ताक्षर करता है) मुजफफर को बैंक से बाहर कर दिया ।मो मुजफफर ने इस आशय का आवेदन शाखा प्रबंधक और थाने को दिया है मगर अभी तक कोई कार्रवाई नही हुई है और न ही राशि का भुगतना मुजफफर को किया गया है।
          सवाल ये पैदा होता है कि जब बैंक मे पैसा नही था तो चेक बैंक कर्मी ने अपने पास रखा क्यों ?


Sent from my Samsung Galaxy smartphone.

Monday, December 07, 2015

समाज और पञकार

समाज निर्माण में पञकारिता का अहम् हिस्सा है।

Friday, December 04, 2015

मुस्लिम छाञ वर्ष 2014-15 के pre-matricscholarship amount से वंचित

 Md Qamre Alam
             Journalist
sitam
प्रखणड शिक्षा पदाधिकारी परिहार की कोताही से मुस्लिम बच्चे अल्पसंख्यक छाञवृति (minority scholarship)राशि से वंचित
--------------------------------------------------------


परिहार प्रखणड के selected मुस्लिम बच्चों को वर्ष 2014-15 की राशि उनके खातों के माध्यम से किया जाना था (वर्ग 1 से 8 तक अभिभावक के खाते मे और 9 से 10 सीधे छात्रों के खाते मे)
नवम्बर दिसम्बर 2014 में ही जिला ने चयनित छात्रों की सूची भेज कर खाता की मांग कि गईं थी मगर आज तक प्रखणड शिक्षा पदाधिकारी परिहार ने छात्रों /अभिभावकों से खाता प्राप्त नही किया और नही खाता जिला को प्रेषित किया कमाल तो ये है कि चयनित सूची का प्रकाशन भी सार्वजनिक तौर पर नही किया गया जिस कारण मुस्लिम छात्र /छात्रोंओ को pre- matric scholarship amount से वंचित होना पड़ रहा है ।

Wednesday, December 02, 2015

तत्कालीन डी पी ओ असगर अली की कर्तव्यहीनता से परिहार प्रखणड के तालिमी मरकज स्वयंसेवक अक्षर ऑचल से वंचित

परिहार  (सीतामढढ़ी)अनौपचारिक एवं नवाचारी शिक्षा कार्यक्रम, बिहार शिक्षा परियोजना सीतामढ़ी के अन्तर्गत तालिमी मरकज़ केन्द्र प्राथमिक विद्यालय एकडणडी उर्दू कन्या परिहार जिला सीतामढी केन्द्र सख्या 21/परिहार में फरवरी 2010 से शिक्षा स्वयंसेवक के रूप में कार्यरत था 10 दिसम्बर 2012 से सरकार के आदेशानुसार तालिमी मरकज़ का संचालन जन शिक्षा निदेशालय बिहार पटना के अधीन कर मुख्यमंत्री अक्षर आॅचल योजना से जोड़ दिया गया ।
सीतामढी जिला मे जिला कार्यक्रम पदाधिकारी साक्षरता ने फरवरी 2010 से कार्यरत शिक्षा स्वयंसेवक को जुलाई 2013 मे दो दिवसीय प्रशिक्षण दे कर मुख्यमंत्री अक्षर आंचल योजना से जोड़ दिए मगर मेरे केन्द्र को बिना किसी कारणों के अवैध राशि नही देने की वजह से छोड़ दिया ।मै कई आवेदन सम्बंधित पदाधिकारियों से लेकर मुख्मंञी बिहार पटना को दे चुका हूँ मगर आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई ।मेरे केन्द्र को मुख्यमंत्री अक्षर आॅचल योजना से नही जोड़े जाने की वजह से मेरे समक्ष भूखमरी की स्थिति उत्पन्न हो चुकी है।
अतः कार्रवाई करने की कृपा करें ।
विश्वास भाजन
मो कमरे आलम
एकडणडी परिहार सीतामढी
पिन 843324
मो 9199320345



Sent from my Samsung Galaxy smartphone.


Sent from my Samsung Galaxy smartphone.


Sent from my Samsung Galaxy smartphone.

विशिष्ट पोस्ट

सामान्य(मुस्लिम)जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को हटाने से संबंधित निर्णय को वापस ले सरकार वरना सड़क से लेकर संसद तक होगा आंदोलन :- मोहम्मद कमरे आलम

आठ वर्षों से कार्य कर रहे सामान्य मुस्लिम जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को एक झटके में बिहार सरकार द्वारा सेवा से यह कह कर हटा दिया...