Click here online shopping

Friday, August 11, 2017

महादलित अल्पसंख्यक एवं अतिपिछड़ा वर्ग अक्षर आँचल योजना की एक अच्छी खासी रक़म मोनिटरिंग/प्रबोधन में खर्च जिसका कोई औचित्य नहीं है

महादलित अल्पसंख्यक एवं अतिपिछड़ा वर्ग अक्षर आँचल योजना की एक अच्छी खासी रक़म मोनिटरिंग/प्रबोधन में खर्च जिसका कोई औचित्य नहीं है
------------------------
बिहार सरकार द्वारा संपोषित योजना मुख्यमंत्री अक्षर आँचल योजना के अंतर्गत संचालित कार्यक्रम "" महादलित अल्पसंख्यक एवं अतिपिछड़ा वर्ग अक्षर आँचल योजना "" की एक अच्छी खासी रक़म मोनिटरिंग/प्रबोधन में खर्च की जा रही है जिसका कोई औचित्य नहीं है ज़िला स्तरीय लोक शिक्षा
समिति, प्रखण्ड समन्वयक साक्षर भारत और के आर पी को प्रबोधन कार्य से अलग कर इस राशि से शिक्षा स्वयं सेवी के मानदेय में इज़ाफ़ा तत्काल प्रभाव से किया जा सकता है।अगर प्रबोधन कार्य से उक्त सभी को अलग कर दिया जाता है तो इनपर व्यय राशि शिक्षा स्वयं सेवी को दे दी जाती है तो शिक्षा स्वयं सेवी का मानदेय प्रति माह@Rs 11810.25 रुपये हो जाएगा। या इतनी बड़ी राशि से 13383 नये शिक्षा स्वयं सेवी बहाल किया जा सकता है ।मालूम हो कि इस कार्यक्रम की मॉनिटरिंग और प्रबोधन के नाम पर प्रति वर्ष @Rs 107064000 दस करोड़ सत्तर लाख चौसठ हज़ार रुपये की एक बड़ी रकम खर्च कर दी जाती है जिसका ज़मीनी हक़ीक़त से कोई लेना देना नही।अगर मोनिटरिंग/प्रबोधन इतना ही ज़रूरी है तो ये कार्य सी आर सी वाइज सिनिअर शिक्षा स्वयं सेवी से लिया जा सकता है।

""
अनावश्यक खर्च पर रोक लगा शिक्षा स्वयं सेवी पर खर्च कर बेहतर परिणाम हासिल किया जा सकता है। ""

No comments:

विशिष्ट पोस्ट

सामान्य(मुस्लिम)जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को हटाने से संबंधित निर्णय को वापस ले सरकार वरना सड़क से लेकर संसद तक होगा आंदोलन :- मोहम्मद कमरे आलम

आठ वर्षों से कार्य कर रहे सामान्य मुस्लिम जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को एक झटके में बिहार सरकार द्वारा सेवा से यह कह कर हटा दिया...