Friday, November 10, 2017

क्यों फ़ज़ा बदली- बदली सी नज़र आती है ?

क्यों फ़ज़ा बदली- बदली सी
नज़र आती है
आफताब - माहताब में
रोशनी नहीं है

क्यों सीने में जलन हो रही है
क्यों सांस घुट रही है
धुँआ - धुँआ निकल रहा है
क्यों चारों तरफ धुंध हो रही है

ऐसा लगता है कि
कुछ ऐसा हुआ है
या होने वाला है जिससे
क़ुदरत (प्रकृति ) भी खुश नहीं है


किसने लगाई है आग
आख़िर क्या है राज़
झूलस गए हैं दरख़्त
फूल और पत्ते

मालूम होता है
ज़मीन - आसमान
जानते हैं सब
चाँद और सूरज 
देखते हैं सब ।

मेहजबीं

No comments:

विशिष्ट पोस्ट

सामान्य(मुस्लिम)जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को हटाने से संबंधित निर्णय को वापस ले सरकार वरना सड़क से लेकर संसद तक होगा आंदोलन :- मोहम्मद कमरे आलम

आठ वर्षों से कार्य कर रहे सामान्य मुस्लिम जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को एक झटके में बिहार सरकार द्वारा सेवा से यह कह कर हटा दिया...