Friday, January 06, 2017

08 को होगी मधुबनी में तालिमि मरकज़ संघ की बैठक

बिहार राज्य तालिमी मरकज शिक्षा स्वंय सेवक संघ बिहार के जिला इकाई मधुबनी की अहम् बैठक 08/01/17 दिन - रविवार ,समय -सूबह 09 बजे ,स्थान -" होटल वाटिका " संतु नगर चभज्जा मोड़ के पास होगी।उस बैठक में मधुबनी जिला के सभी तालिमी मरकज शि०स्वयं सेवक अपनी उपस्थिति दर्ज करें। बैठक में प्रदेश कमिटी के आला अधिकारियों की भी भाग लेने की संभावना है। मधुबनी जिला इकाई के गठन के साथ साथ विशेष महत्वपूर्ण विषय पर विचार किया जायेगा

बैठक मे प्रदेश कमिटी के मुख्य अतिथि होंगे :
1- मो० अहमद रजा -प्रदेश अध्यक्ष - प०चंपारण -9931495786
2- मो० तारीक अनवर - प्रदेश सचीव - बेगूसराय - 9534364390
3- मो० सुलतान - प्रदेश उपा० - सासाराम -9431283322
4 - मो० मोहसिन अंसारी - प्रदेश उपा० -756493786
5- राजा मुराद -सुपौल - महा सचिव - 970970795
6- वकील अहमद - प्रदेश कोषाध्यक्ष - पं चंपारण - 8969861414
7 - नूजहत जहां - प्रदेश उपा० - सीतामढी -
8 - मो०  अकबर - प्रदेश संगठन पभारी -बेगुसराय - 9534551051 
09 - मो० शमशाद - भागलपुर - प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य - 8864099593
10- मो० नाजीर - प्रदेश कार्य कारिणी सदस्य - समस्तीपुर -9709426482 .
11 मो० सगीर अंसारी- सीतामढी
12.मो० मारुफ - बेतिया

Thursday, January 05, 2017

उत्तर प्रदेश के शुक्ल महोना में एक ही मुस्लिम परिवार के 11 लोगों की निर्मम हत्या, जिसमें 6 मासूम बच्चे भी हैं

मो○अली खान की रिपोर्ट
----------------------------------
चुनाव सर पर है और मुसलमानों के खून के धब्बे अपनी छाप छोङने लगें हैं, हाँ बात उत्तर प्रदेश की ही है, अमेठी जनपद के थाना बाजार शुक्ल महोना में एक मुस्लिम परिवार के 11 लोगों की सरेरात हत्या कर दी गयी, जिनमें 6 मासूम बच्चे भी शामिल हैं, परिवार के मुखिया का नाम जमालुद्दीन है।

पुलिस पहुँचती है और हत्या के कारणों का पता लगाने की कोशिश करती है , लेकिन जब पुलिस को नाकामी मिलती है तो परिवार के 11 लोगों के क़त्ल का इल्ज़ाम परिवार के मुखिया मक्तुल जमालुद्दीन पर ही डाला जा रहा है। जब कि तस्वीर कुछ और ही ब्यान कर रही है| ऐसा लगता है कि जमालुद्दीन फंदे पर लटका नहीं उसे मार कर लटकाया गया है। क्योंकि जमालुद्दीन की लाश के पैर से चप्पल तक नहीं गिरी, हालाँकि फाँसी के फंदे पर लटकने वाला छटपटाता है | सिलेण्डर दूर रखा हुआ है जब की फंदे पर लटकने वाला कुर्सी/सिलेंडर या अन्य किसी वस्तु का सहारा लेकर गले में फंदा डाल कर पैर की ठोकर से सिलेंडर या कुर्सी को गिराता है, लेकिन यहाँ पर सिलेंडर थोड़ी दूरी पर  देखा जाता है और सिलेंडर फर्श पर गिरता भी नहीं | और तो और क्या ऐसा हो सकता है ? 11 लोगों का बेरहमी के साथ तेज़ धार से गला काटा जाए और क़ातिल के कपड़े और हाथ पर खून का एक छीटा तक न मिले ??

पुलिस प्रशासन पूरी तरह  खून का इल्जाम मक्तुल जमालुद्दीन के सर पर डाल कर फाईल को बंद करने की कोशिश में है ।लाशों पर गलत खबर बनाने आये मिडिया वालों की गाड़ी  भी गांव वाले गुस्से में आकर जला देते हैं ||

अब सवाल यह है कि जमालुद्दीन को पूरे परिवार समेत खुद की जान लेने की जरूरत ही क्या थी ? और अगर ऐसा नहीं है तो पुलिस प्रशासन कातिलों को तलाश करे, हाँ अगर फाइल बन्द होती है तो यह मान लिया जाएगा की कत्ल होने वाले का नाम जमालुद्दीन था इसलिए कातिल को ढुंढने में ढिलाई बरती गई वर्ना कोई श्याम या राहुल होता तो अब तक कई संदिग्ध गिरफ्तार भी हो गए होते ,

07 जनवरी तक सीतामढी के सभी विद्यालयों में पठन पाठन स्थगित ,शिक्षक विद्यालय में बने रहेंगें

जिला पदाधिकारी सीतामढ़ी के आदेशानुसार शीतलहर को देखते हुए जिला के निजी एवं सरकारी विद्यालयों में पठन पाठन 06 जनवरी से 07 जनवरी 2017 तक स्थगित किया गया है।शिक्षक एवं शिक्षिका विद्यालय में बने रहेंगे और लम्बित कार्यों का निष्पादन करेंगे ।

Wednesday, January 04, 2017

चुनाव आयोग ने जारी किया चार राज्यों में विधान सभा चुनाव की तारीख

चुनाव आयोग ने आज यूपी, पंजाब, गोवा, मणिपुर और उत्तराखंड के विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान कर दिया है। मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि  5 राज्यों में 690 सीटों पर चुनाव कराए जाएंगे और करीब 16 करोड़ मतदाता हिस्सा लेंगे। सभी राज्यों में एक साथ चुनाव कराए जाएंगे। गोवा-पंजाब से वोटिंग 4 फरवरी से शुरू होगी और 11 मार्च को एक साथ मतगणना होगी।

गोवा - वोटिंग 4 फरवरी 2017

 

पंजाब- नोटिफिकेशन 11 जनवरी 2017,  नामांकन की आखिरी तारीख 18 जनवरी, वोटिंग 4 फरवरी 2017 को।

उत्तराखंड- 27 जनवरी को नामांकन का आखिरी दिन, 15 फरवरी 2017 को चुनाव

मणिपुर- नोटिफिकेशन 8 फरवरी 2017,  नामांकन की आखिरी तारीख 15 फरवरी, वोटिंग 4 और 8 मार्च 2017 को।

उत्तर प्रदेश- सात चरणों में चुनाव होंगे

पहले चरण में 73 सीटों पर चुनाव।नोटिफिकेशन 11 फरवरी 2017,  वोटिंग 11 फरवरी 2017 को।

दूसरे चरण में 11 जिलों की 67 सीटों पर चुनाव। नोटिफिकेशन 20 जनवरी, नामांकन की आखिरी तारीख  जनवरी, वोटिंग 11 फरवरी 2017 को।

तीसरे चरण में 12 जिलों की 69 सीटों पर चुनाव। नोटिफिकेशन 24 जनवरी 2017,  नामांकन की आखिरी तारीख 31 जनवरी, वोटिंग 19 फरवरी 2017 को।

चौथे चरण में 12 जिले की 53 सीटों पर चुनाव। नोटिफिकेशन 30 जनवरी 2017, नामांकन की आखिरी तारीख 6 फरवरी, वोटिंग 23 फरवरी 2017 को।

पांचवें चरण में 11 जिले की 52 सीटों पर चुनाव। नोटिफिकेशन 30 जनवरी 2017, नामांकन की आखिरी तारीख 6 फरवरी, वोटिंग 23 फरवरी 2017 को।

छठे चरण में 7 जिले की 49 सीटों पर चुनाव। नोटिफिकेशन 8 फरवरी 2017, वोटिंग 4 मार्च 2017 को।

सातवे चरण में 7 जिले की 40 सीटों पर चुनाव। वोटिंग 8 मार्च 2017 को।

-सभी राज्यों में मतगणना 11 मार्च को होगी।

क्या-क्या कहा चुनाव आयोग ने पढ़ें

-690 में से 133 सुरक्षित सीटों पर होगी वोटिंग

-सभी वोटरों को फोटो वोटर पर्ची दी जाएगी

-5 राज्यों में कुल 1 लाख 85 हजार पोलिंग बूथ बनाए गए हैं

-सभी राज्यों में ईवीएम लगा दी गई हैं

-वोटरों को रंगीन वोटर गाइड भी दिए जाएंगे

-गोवा में वोटर जान पाएंगे किसे वोट दिया

-ईवीएम पर नोटा विकल्प का भी इस्तेमाल कर सकते हैं वोटर

-कुछ जगहों पर महिलाओं के लिए अलग बूथ

-कई जगह ईवीएम मशीनों में उम्मीदवारों की फोटो भी होगी

-चुनाव आचार संहिता तत्काल प्रभाव से लागू

-उम्मीदवारों को बताना होगा कि उन पर कोई बकाया नहीं

-उम्मीदवारों को नो डिमांड सर्टीफिकेट देना होगा

-पार्टियां प्रचार में प्लास्टिक का इस्तेमाल ना करें

-रात 10 से सुबह 6 बजे तक लाउड स्पीकर के इस्तेमाल पर रोक

-यूपी, पंजाब, उत्तराखंड में उम्मीदवार 28 लाख रुपये खर्च कर सकते हैं

-मणिपुर और गोवा में उम्मीदवार 20 लाख रुपये खर्च कर सकते हैं

-उम्मीदवार को फोटो देना होगा और बताना होगा कि विदेशी नहीं है

-20 हजार से ज्यादा का लेनदेन बैंक के जरिए किया जाए

-

 

मार्च तक ही सरकारों का कार्यकाल

गोवा, मणिपुर और पंजाब विधानसभा का कार्यकाल 18 मार्च को खत्म हो रहा है जबकि उत्तराखंड विधानसभा का कार्यकाल 26 मार्च तक है। उत्तर प्रदेश विधानसभा का कार्यकाल 27 मार्च को खत्म हो रहा है। बीते दिसंबर में, चुनाव आयोग ने राज्य सरकारों और शिक्षा बोर्ड्स को पत्र लिखकर कहा था कि वह आगामी मार्च महीने में होने वाली वार्षिक परीक्षाओं के कार्यक्रम को चुनाव आयोग के मश्विरे के बाद ही तय करें।

गोवा विधानसभा में 40 सीटें हैं। वहीं मणिपुर में 60, पंजाब में 117, उत्तराखंड में 70 सीटें हैं। चुनावी दृष्टि से सबसे अहम राज्य उत्तर प्रदेश है जहां विधानसभा में 403 सीटें हैं। चुनाव आयोग द्वारा तारीखों के ऐलान के तुरंत बाद ही इन सभी राज्यों में चुनाव आचार संहिता लागू हो जाएगी।

इन 5 राज्यों में से यूपी और पंजाब में महीनों पहले से चुनावी घमासान मचा हुआ है। यूपी में सत्ताधारी पार्टी सपा खुद ही कलह का शिकार है। सीएम अखिलेश और उनके पिता मुलायम सिंह के बीच रस्साकशी का दौर चल रहा है। यहां टक्कर सपा और भाजपा के बीच देखी जा रही है। वहीं, पंजाब में आम आदमी पार्टी (आप) सत्ता में आने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगाए हुए है। पंजाब में अकाली-भाजपा गठबंधन की दूसरी बार सत्ता में वापसी हुई थी और इस बार उसे कांग्रेस, आप से जबर्दस्त चुनौती मिल रही है।

यूपी में दलित वोटबैंक का ज्‍यादातर हिस्‍सा बसपा और कांग्रेस को मिलता रहा है। अब भाजपा ने इस वोट में से भी शेयर लेने की कोशिश तेज कर दी है ताकि बसपा को नुकसान पहुंचे और उसे फायदा। सेंटर फॉर द स्टडी ऑफ सोसायटी एंड पॉलिटिक्‍स के निदेशक प्रोफेसर एके वर्मा कहते हैं कि पहले दलित कांग्रेस का पारंपरिक वोट हुआ करता था, लेकिन 1989 के बाद वह बसपा की तरफ खिसक गया। अब दलितों में मायावती की स्‍थिति कमजोर हो रही है। उनका दलित वोटों पर एकाधिकार नहीं रहा। कहा जा रहा है कि इसीलिए अब इस पर अन्‍य दल भी दांव लगा रहे हैं। भाजपा की दलित सम्‍मेलन करवाने की रणनीति भी इसी का हिस्‍सा हो सकती है।

परिहार के सभी पंचायतों को ओडीएफ से आच्छादित किया जाए

परिहार ब्लॉक के 27 पंचायतों में से 13  पंचायतों को ओ डी एफ (open Dedication Free ) के लिए चयन किया गया है ।मोहम्मद सउद आलम ने समाहर्ता सीतामढी से परिहार के सभी पंचायतों को ओडीएफ से आच्छादित करने की माँग की है।क्योंकि परिहार प्रखंड काफी पिछड़ा हुआ है ।

लकड़ी और बकरी चोरी के इल्जाम में झारखंड के जेलोंमें बन्द आदिवासयों की लड़ाई लड़ेगा इंसाफ इंडिया

Mustaqim Siddiqui
----------------------------------
लकड़ी और बकरी चोरी के नाम पर झारखंड के जेलों में कई सालों से लगभग 5000 से अधिक आदिवासी बंद हैं , इस बीच दो बार केंद्र और राज्य में सरकारें बदली , झारखण्ड में दो बार आदिवासी मुख्यमंत्री भी बदले लेकीन जेलों में कई सालों से बंद लकड़ी और बकरी चोरी के नाम पर इस आदिवासियों को कोई मदद नही मिली , दूसरी तरफ देश की सम्पदा पर अवैध रूप से कब्जा किये लोगों को सरकारी मेहमान बनाया जाता है , बैंक से हजारों करोड़ का घोटाला करने वालों को नज़र अंदाज किया जाता है , हजारों करोड़ के घोटाला बाजों पर कोई एक्शन नही होता है लेकीन ज़र , ज़मीन और जंगल के मालिक को जंगल से लकड़ी काट करके अपना और अपने परिवार का भ्रण पोषण करने पर लकड़ी चोरी के आरोप में वर्षों से कैद की सजा काटनी पड़ रही है l

इंसाफ इन्डिया जल्द ही ऐसे आदिवासी पीड़ित को कानूनी सहायता उपलब्ध कराने के साथ न्याय दिलाने के लिये एक कमिटी का गठन करेगी l

Tuesday, January 03, 2017

आज़ादी के 69 साल बाद भी देमा पंचायत का देमा गाँव बुनियादी सुविधाओं से वंचित ,गाँव को जोड़ने वाली मुख्य मार्ग का पक्की करण नहीं

देमा पंचायत का देमा गाँव का पूर्वी मुहल्लाह आजादी के 69 साल बाद भी बुनियादी सुविधाओं से वंचित है।जहाँ नीतीश सरकार के द्वारा हर घर जल ,नल,हर गली में पक्की सड़कें और नालीकरण की बातें की जा रहीं हैं वहीं आज भी देमा गाँव को जोड़ने वाली मुख्य सड़क"  पमड़ा से देमा  " मार्ग का पक्कीकरण नही हो पाया है।इस मार्ग में ईट सोलिंग ही दिखाई पड़ रही है और ईंट सोलिंग भी ऐसा कि अगर पैदल भी सम्भल कर नही चलें तो पैड़ का टूटना तय ।यही वो मार्ग है जो अनुसूचित जाति मुहल्लाह को जोड़ने के साथ साथ पंचायत भवन और ग्राम कचहरी को भी जोड़ता है।जहाँ हर तरफ विभिन्न योजनाओं के तहत सड़कों का निर्माण कराया जा रहा है जहाँ पहुँच पथ नही है वहाँ पहुँच पथ निर्माण की बातें की जा रही हैं वहीं देमा के इस मार्ग को प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजनान्तर्गत नहीं जोड़ा जाना सवाल पैदा करता है क्या इस मार्ग को इसलिए वंचित रखा गया क्योंकि ये मार्ग अल्पसंख्यक और अनुसूचित बस्ती को जोड़ता हैं ?

Monday, January 02, 2017

परिहार प्रखणड के 31प्रधानाध्यापक पर गबन के प्राथमिकी का आदेश

उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक का कारनामा जनधन के तहत खोल दिया शिक्षकों का खाता, वेतन निकासी में हो रही परेशानी

जिला सीतामढी अंतर्गत उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक की एकाध शाखाओं ने कुछ नियोजित शिक्षकों का बैंक खाता जनधन योजनान्तर्गत खोल देने का मामला प्रकाश में आया है।बिहार नगर पंचायत प्रारंभिक शिक्षक संध के जिला अध्यक्ष व उपाध्यक्ष ने क्षेत्रीय प्रबंधक युबीजीबी सीतामढी को संयुक्त आवेदन देकर शिकायत दर्ज की है ।आवेदन में बतलाया गया है कि कुछ नियोजित शिक्षकों का खाता जनधन योजनान्तर्गत खोल दिया गया है जिससे शिक्षकों को वेतन निकासी में परेशानी हो रही है  इतना ही नही एटीएम भी लाॅक कर दिया गया है ।आवेदन में  शिक्षकों को हो रहे कई समस्याओं की जानिब क्षेत्रीय प्रबंधक का ध्यान आकृष्ट कराया गया है ।

Sunday, January 01, 2017

इन्साफ इंडिया एक नजर

Mustaquim Siddiqe
----------------------------------
दोस्तों इंसाफ इन्डिया अधिकारिक रूप से 14/11/2016 को बनी और इतने कम समय में स्वार्थरहित एवं निष्ठावान कार्यकर्ताओं ने अपनी कड़ी एवं कठोर परिश्रम के द्वारा इंसाफ इन्डिया को स्थापित कर दरवाजे - दरवाजे तक न्याय , अधिकार , मानवता एवं समानता के लिए लोगों के बीच अपने मिशन पर कार्य कर रही है l झारखंड राज्य के कई ज़िलों में आज इंसाफ इन्डिया को एक बड़े बदलाव लाने वाली मुहीम की तरह देखा जा रहा है और उस मुद्दे पर हम अग्रसर हैं l

इसी बीच इंसाफ इन्डिया ने कई मुद्दे को ऊजागार भी किया । धर्म , जाती एवं  समुदाय से ऊपर उठकर आवाजें बुलंद की , देश के संविधान एवं कानून का पालन करते हुए हम सड़क से संसद तक एक बड़े संघर्ष की तैयारी कर रहे हैं ज़िसका पहला चरण एक विशाल सभा के रूप में गिरीडीह ज़िला के गांडे प्रखंड से होने जा रहा है । इस विशाल सभा से पहले झारखंड के कई ज़िलों में लगातार चौपाल कार्यक्रम का आयोजन किया गया जो आज भी जारी है और लगातार जारी रहेगा l

यह मुहीम हर उस परिवार , समुदाय , जाती एवं धर्म के लोगों के साथ है जो किसी भी तरह के अत्याचार , अन्याय एवं जुल्म का शिकार हो रहे हैं या भविष्य में होगा l

इंसाफ इन्डिया किसी भी धार्मिक या राजनीतिक संगठन द्वारा समर्थित या प्रायोजित मुहीम नही है , यह आपका , हमारा और हम सबका है l यह देश के हर आम नागरिक का , आम नागरिक द्वारा , आम नागरिक के लिये चलाया गया मुहीम है l

हम जल्द ही झारखंड के सारे ज़िलों में अपने कार्यक्रम को पूर्ण रूप से स्थापित कर दुसरे राज्य में चौपाल कार्यक्रम की शुरूआत करेंगें l

हमें आशा है के देश का हर नागरिक न्याय , अधिकार , मानवता एवं समानता के इस संघर्ष में इंसाफ इन्डिया के साथ कंधे से कंधा मिलाकर कदम ब कदम साथ देगा और देश में शांति लाने के लिये एक साथ आवाजें बुलंद करेगा l

मो○युसूफ अध्यक्ष प्रखणड अध्यक्ष जदयू(अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ )के आवेदन पर मंत्री ने लिया संज्ञान

मोहम्मद युसूफ अध्यक्ष प्रखणड जनता दल यूनाइटेड  (अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ ) ने परिहार अंचल कार्यालय में कर्मियों की कमी से राजस्व संग्रह एवं अन्य कार्यों के बाधित होने के कारण कर्मियों के पदस्थापन करने का अनुरोध श्रवण कुमार मंत्री ग्रामीण विकास एवं संसदीय कार्य विभाग बिहार पटना से किया था।माननीय मंत्री ने उक्त आवेदन को अपने पत्रांक 282/आ○पटना 26/012/2016 के माध्यम से  श्री मदनमोहन झा माननीय मंत्री राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग, बिहार पटना को भेज कर आवश्यक कारवाई करने का अनुरोध किया है। मो○युसूफ ने आवेदन को गंभीरता से लेने के लिए श्री श्रवण कुमार को बधाई दी है।

विकसित बिहार के 7 निश्चय "आर्थिक हल ,युवाओं को बल"

विकसित बिहार के 7 निश्चय "आर्थिक हल ,युवाओं को बल" के अंतर्गत राज्य के युवाओं के लिए मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं सहायता भत्ता योजना चलाईं जा रहीं है  ।इस योजना के अंतर्गत 12वीं कक्षा उत्तीर्ण  20 से 25 वर्ष के इच्छुक बेरोजगार युवाओं को रोजगार तलाशने के दौरान सहायता के तौर पर 1000 रूपय प्रति माह की दर से स्वयं सहायता भत्ता की सुविधा दो वर्षो के लिए दी जाती है।आवेदन की प्रक्रिया ऑनलाइन है।

उक्त योजना का लाभ लेने वाले इच्छुक युवा को चाहिए अपना आधार कार्ड ,आवासीय प्रमाण - पत्र और बैंक खाता तैयार रखें ।

योजना की पुरी जानकारी टाॅल फ्री नम्बर 1800345444 अथवा  www.prdbihar.gov.in/www.planing.bih.nic.in

से हासिल कर सकते हैं ।

काम की बातें

दुनिया की हकीकत देखनी है तो आॅखों पर पट्टी बाॅध कर देखों -इस दुनिया को अंधा बन कर बेहतर देख सकते हो।

मेहनत की रूखी सुखी खाने में जो मजा है वो चोरी चकारी से हासिल मुर्ग मुसल्लम में नहीं है ।

मर्द से बड़ा भेड़िया कोई नही होता, इंसान जानवर से ज्यादा बेरहम होता है।

नेता अपनी कारगुजारी दिखाने के लिए भीड़ जमा करते हैं और सरकार से भीड़ के लिए नही अपने लिए माँगतें हैं कि देख मेरे साथ कितने लोग है, मुझे भी कुर्सी दो,पैसा दो,ताकत दो।

पेड़ लगाकर नही तो पढ़ लिखकर अपने वक्त का इस्तेमाल करो तो ज्यादा सुख मिलेगा -सुअर की तरह हांक कर गलियों में ले जाए जाने पर कैसा सुख मिल सकता है ?।

विशिष्ट पोस्ट

सामान्य(मुस्लिम)जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को हटाने से संबंधित निर्णय को वापस ले सरकार वरना सड़क से लेकर संसद तक होगा आंदोलन :- मोहम्मद कमरे आलम

आठ वर्षों से कार्य कर रहे सामान्य मुस्लिम जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को एक झटके में बिहार सरकार द्वारा सेवा से यह कह कर हटा दिया...