Friday, June 09, 2017

प्रखण्ड स्तरीय चक धूम-चक धूम 2017 समर कैंप कार्यशाला आयोजित

प्रखण्ड स्तरीय चक धूम-चक धूम कार्यशाला आयोजित

बिहार।सीतामढ़ी।परिहार प्रखण्ड अन्तर्गत प्रखण्ड स्तरीय चक धूम-चक धूम 2017 समर कैंप के सफल आयोजन के लिए प्रखण्ड संसाधन केंद्र परिहार के प्रशिक्षण कक्ष में प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारी परिहार राम सेवक राम की अध्यक्षता में  कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसमें प्रखण्ड कार्यक्रम समन्वयक अर्चना कुमारी साक्षर भारत, प्रखण्ड साधन सेवी कौशलेन्द्र कुमार कर्मेन्दु ,शमीम अंसारी, मारूफ आलम, सी आर सी सी इसराफिल अंसारी, बी एम सी मकतब के प्रधानाध्यापक शमीम अंसारी, सहायक फखरुल अंसारी, लेखा समन्वयक दुखा बैठा, टोला सेवक, तालिमी मरकज़ शिक्षा स्वयं सेवी, पंचायत लोक शिक्षण केन्द्र के प्रेरक आदि उपस्थित थे।

Thursday, June 08, 2017

11 जून 2017 रविवार को होगी प्रदेश टोला सेवक संघ की बैठक

बिहार प्रदेश टोला सेवक संघ पटना की एक आवश्यक बैठक 11जून 2017 रविवार को
बहादुर पुर शांति निकेतन मध्य विद्यालय में प्रदेश अध्यक्ष ब्रह्मानन्द की अध्यक्षता में में आहूत की गई है।
प्रदेश अध्यक्ष ने बताया कि बैठक बहुत ही अहम और गंभीर है बैठक में अगामी कार्य की रूप रेखा तैयार किया जाएगा।
सभा स्थल पर पहुँचने का पता:- पटना जंक्सन से  टेम्पू या बस पकड़ कर राजेन्द्र नगर ,पटना सीटी,अगम कुँआ या भूतनाथ जाने वाली पकड़ कर बहादुर पुल के पास उतड़, पुल पर चढ उत्तर की ओर आ जाना है वहाँ दूर्गा मंदिर के पास किसी से भी पूछ लेना है कि सरकारी विद्यालय शांति निकेतन कहाँ है कोई बता देगा ।
विशेषः  9304048103 विनोदजी , 7654477788 राकेश रौशन जी ,या 9162899470 नम्बर पर संम्पर्क कर सकते हैं।

Wednesday, June 07, 2017

हल्का कर्मचारी के जाँच रिपोर्ट के बाद भी सी ओ परिहार ने नही किया रक़बा सुधार, सुधार के एवज माँगी दस हजार

बिहार/सीतामढ़ी/परिहार ।।ज़मीन के रक़बा सुधार के लिए ग्राम पंचायत बेतहा ,बेतहा निवासिनी मुसमात प्रवीण कौसर पति मोहम्मद खुर्शीद आलम ने रक़बा सुधार कर दाखिल खारिज करने के लिए सी ओ परिहार को 13 जनवरी 2016 को आवेदन दिया था, सी ओ परिहार ने हल्का कर्मचारी को जाँच कर प्रतिवेदन प्रस्तुत करने का आदेश दिया।हल्का कर्मचारी ने 19 जनवरी 2016 को जाँच प्रतिवेदन समर्पित कर अंचलाधिकारी परिहार को  अंचल अमीन से नक़्शा मापी व सीमांकन प्रतिवेदन लेने का अनुरोध करते हुए आवेदिका के केबाल दर केबाल और दखल क़ब्ज़ा के आधार पर रक़बा सुधार कर दाखिल खारिज करने की अनुशंसा की मगर डेढ़ साल गुजर जाने के बाद भी अंचल पदाधिकारी परिहार ने आवेदिका के ज़मीन का रक़बा सुधार करने का प्रस्ताव संबंधित पदाधिकारी को नहीं दिया।

              "" हल्का कर्मचारी के प्रतिवेदन देने के बाद भी जब रक़बा सुधार  नही किया गया तो मैं सी ओ से मिली और रक़बा सुधार की बात कही तो सी ओ परिहार ने कहा अरे ! ये सब वैसे ही थोड़े होता है ज़मीन का मामला है पैसा खर्च करना होगा।दस हज़ार रुपये ले कर आना काम हो जाएगा।।""
                                 
                              ''मुसमात प्रवीण कौसर ''

Monday, June 05, 2017

पहले योगदान करने वाले वंचित, बाद वाले को मानदेय राशि का भुगतान

सीतामढ़ी । जिला साक्षरता सीतामढी द्वारा  29 जुलाई 2016 को तालिमी मरकज़ में योगदान करने वाले 21 शिक्षा स्वयं सेविओं का मानदेय राशि भुगतान किया जा रहा है वहीं फरवरी 2016 और 11 जुलाई 2016 में योगदान करने वाले शिक्षा स्वयं सेवी को मानदेय राशि भुगतान से वंचित रखा जा रहा है।होना तो ये चाहिए था कि पहले योगदान करने वाले को मानदेय राशि का भुगतान होना चाहिए था मगर यहाँ ऐसा नहीं हो रहा है ।

कमाल तो ये है कि इन संबंधित विद्यालयों के प्रधान को मालूम भी नहीं है कि इनके विद्यालय में ये तालिमी मरकज़ के शिक्षा स्वयं सेवक कार्यरत हैं (इक्कीस शिक्षा स्वयं सेवक) ।और इनको मानदेय राशि का भुगतान भी हो रहा है और जो बाक़ायदा कार्यरत हैं वे मानदेय के लिए रास्ता ही देख रहे हैं।अंकनीय है कि जिन शिक्षा स्वयं सेवकों ने पहले योगदान किया उनके मानदेय राशि भुगतान के लिए राशि की माॅग ही अभी निदेशालय से की जा रहीं है जबकि बाद में योगदान करने वाले इक्कीस शिक्षा स्वयं सेवकों को नियमित मानदेय राशि का भुगतान जिला साक्षरता सीतामढी द्वारा किया जा रहा है ।
बताते चलें कि इक्कीस शिक्षा स्वयं सेवकों में सात शिक्षा स्वयं सेवकों का नियोजन एक ही विद्यालय अनुसूचित जाति टोल आवापुर, मौला नगर दक्षिण पंचायत और पुपरी प्रखण्ड में किया गया है।जानकारी अनुसार तालिमी मरकज़ शिक्षा स्वयं सेवी का नियोजन मुस्लिम समुदाय के बच्चों को मुख्य धारा की शिक्षा प्रदान करने के लिए की जाती है लेकिन यहाँ तो सब कुछ नियम विरुद्ध ही लग रहा है।



        

पहले योगदान करने वाले वंचित बाद वाले को भुगतान

सीतामढ़ी जिला साक्षरता में 29 जुलाई 2016 को तालिमी मरकज़ में योगदान करने वाले 15 शिक्षा स्वयं सेविओं का मानदेय राशि भुगतान किया जा रहा है वहीं फरवरी 2016 और 11 जुलाई 2016 में योगदान करने वाले शिक्षा स्वयं सेवी को मानदेय राशि भुगतान से वंचित रखा जा रहा है।होना तो ये चाहिए था कि पहले योगदान करने वाले को मानदेय राशि का भुगतान होना चाहिए था मगर यहाँ ऐसा नहीं हो रहा है ।

विशिष्ट पोस्ट

सामान्य(मुस्लिम)जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को हटाने से संबंधित निर्णय को वापस ले सरकार वरना सड़क से लेकर संसद तक होगा आंदोलन :- मोहम्मद कमरे आलम

आठ वर्षों से कार्य कर रहे सामान्य मुस्लिम जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को एक झटके में बिहार सरकार द्वारा सेवा से यह कह कर हटा दिया...