Friday, September 07, 2018

महादलित अल्पसंख्यक एवं अति पिछड़ा वर्ग अक्षर आँचल योजना को मुस्लिमों में सिर्फ परिशिष्ट1 में सम्मिलित मुस्लिम जातिओं के लिए आरक्षित करना शिक्षा का अधिकार अधिनियम का उल्लंघन है :- मोहम्मद कमरे आलम

महादलित अल्पसंख्यक एवं अतिपिछड़ा पिछड़ा वर्ग अक्षर आँचल योजना को मुस्लिमों में सिर्फ परिशिष्ट1 में सम्मिलित मुस्लिम जातिओं के लिए आरक्षित करना शिक्षा का अधिकार अधिनियम का उल्लंघन है :- मोहम्मद कमरे आलम

प्रेस बयान जारी कर मोहम्मद कमरे आलम ने कहा है कि "" महादलित अल्पसंख्यक एवं अति पिछड़ा वर्ग अक्षर आँचल योजना "" को मुस्लिमों में सिर्फ परिशिष्ट 1 में सम्मिलित मुस्लिम जातिओं के लिए आरक्षित कर देना शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 का उल्लंघन है ।
राज्य सरकार द्वारा परिभाषित शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अंतर्गत अभवंचित समूह में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अत्यंत पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक समुदाय आता है।उक्त योजना को परिशिष्ट 1 में सम्मिलित मुस्लिम जातिओं के लिए आरक्षित कर अल्पसंख्यक सामान्य जाति को लाभ से वंचित कर दिया गया है जो शिक्षा का अधिकार अधिनियम में परिभाषित अल्पसंख्यक समुदाय को मिले अधिकार का उलंघन है क्योंकि सामान्य मुस्लिम भी अल्पसंख्यक हैं।
शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव ने 23 अगस्त 2018 को पत्रांक 1570 निर्गत कर उक्त योजना को मुस्लिम में सिर्फ परिशिष्ट 1 में सम्मिलित मुस्लिम जातिओं के लिए आरक्षित कर दिया है और योजना के नाम में भी आंशिक संशोधन कर योजना का नाम " महादलित दलित एवं अल्पसंख्यक अत्यंत पिछड़ा वर्ग अक्षर आँचल योजना " कर दिया है जो गलत है।
उक्त योजना को मुस्लिमों में सिर्फ अति पिछड़ी जातिओं के लिए आरक्षित करने से पूर्व उक्त योजना में बहाल अल्पसंख्यक मुस्लिम सामान्य जाति के शिक्षा स्वंय सेवकों की सेवा निदेशक जन शिक्षा , शिक्षा विभाग पटना के पत्रांक 1088 दिनांक 19.05.2018 और 1098 दिनांक 22.05.2018 के आलोक में यह कहते हुए समाप्त कर दिया गया  कि आप अल्पसंख्यक सामान्य जाति के हैं इसलिए आपका नियोजन अवैध है और एक आदेश से हज़ारों मुस्लिम सामान्य जाति के शिक्षा स्वयं सेवकों को सड़कों पर लाकर खड़ा कर दिया गया है ।एक सोची समझी साजिश के तहत सामान्य जाति के लोगों को ह्रास किया जा रहा है और खाक छानने पर विवश कर दिया गया है।

No comments:

विशिष्ट पोस्ट

सामान्य(मुस्लिम)जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को हटाने से संबंधित निर्णय को वापस ले सरकार वरना सड़क से लेकर संसद तक होगा आंदोलन :- मोहम्मद कमरे आलम

आठ वर्षों से कार्य कर रहे सामान्य मुस्लिम जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को एक झटके में बिहार सरकार द्वारा सेवा से यह कह कर हटा दिया...