Click here online shopping

Monday, October 01, 2018

सीतामढ़ी के0आर0पी0(अक्षर आँचल योजना) सूची को निरस्त कर नए सिरे से नियमानुसार चयन किया जाए

सीतामढ़ी के0आर0पी0(अक्षर आँचल योजना) सूची को निरस्त कर नए सिरे से नियमानुसार चयन किया जाए

सामाजिक, आर्थिक,शैक्षिक रूप से पिछड़ा दलित ,महादलित, अल्पसंख्यकों की असाक्षर महिलाओं को साक्षर करने तथा  अनामांकित क्षिजित,अनियमित बच्चों को विद्यालय पहुँचाने एवं कमजोर बच्चों को उपचारात्मक शिक्षा देने के लिए बिहार सरकार द्वारा 10000(दस हजार) तालिमी मरकज़  20000(बीस हजार) उत्थान केंद्र पर नियोजित  टोला सेवक तथा शिक्षा सेवी को प्रशिक्षण देने  केन्द्रों का अनुश्रवण, प्रबोधन करने के लिए सीतामढ़ी जिला के 17(सत्रह)  प्रखण्डों में 17  KRP का नियोजन किया गया था।जिसमें एक भी अनुसूचित जाति,अनुसूचित जनजाति,  व अल्पसंख्यक समुदाय का नियोजन नहीं किया गया है।जबकि उत्थान केंद्र की स्थापना केवल दलित,महादलित एवं तालीमी मरकज की स्थापना केवल अल्पसंख्यक(मुस्लिम) समुदाय के लिए किया गया है।तालीमी मरकज साक्षरता केन्द्र पर नामांकित शिशुक्षु को  उर्दू प्राइमर ,योजना के प्रारंभिक समय से ही आज तक उपलब्ध नहीं कराया गया और न ही तालिमी मरकज़ पर नामांकित बच्चों को उर्दू किताबें दस्तियाब कराई जाती है जो अल्पसंख्यक मुस्लिम के साथ अन्याय के साथ ही बिहार के दूसरी राज्य भाषा की उपेक्षा है शिक्षा विद्व का भी कहना है कि बच्चों को उनकी मादरी ज़ुबान में तालीम दी जाय लेकिन जन शिक्षा विभाग द्वारा इस का अनुपालन नही किया जा रहा है जब योजना का संचालन बिहार शिक्षा परियोजना के अधीन था तो उर्दू किताबें मुहैया कराई जाती थीं।शिक्षा सेवी को विशेष प्रशिक्षण देने के लिए प्रशिक्षक का चयन किया गया है उस में भी अल्पसंख्यक समुदाय को नज़र अंदाज़ कर एक भी उर्दू भाषी प्रशिक्षक का चयन नहीं किया जाना  दुर्भाग्यपूर्ण है।
सीतामढ़ी ज़िला अन्तर्गत के0 आर0 पी0  चयन में भी सरकारी दिशा निर्देश का अनुपालन नही किया गया चयन से पूर्व जिला या प्रखण्ड स्तर से इसका कोई प्रचार प्रसार भी नहीं किया गया और पर्दे के पीछे ही गुप् चुप तरीके से नियोजन की कार्रवाई की गई है।किसी आरक्षण रोस्टर का अनुपालन नहीं किया गया जो संवैधानिक अधिकारों का हनन  है।
  नागेन्द्र कुमार पासवान  जिला महामन्त्री  भारतीय मजदूर संघ सीतामढ़ी और मोहम्मद कमरे आलम ज़िला अध्यक्ष भारतीय माइनॉरिटीज सुरक्षा महासंघ सीतामढ़ी ने निदेशक जन शिक्षा ,प्रधान सचिव शिक्षा विभाग बिहार,मुख्य सचिव  बिहार से मांग किया है कि के0  आर0 पी0 के चयन में घोर अनियमितता की गई है।तत्काल प्रभाव से वर्तमान के0 आर0 पी0 की सूची को निरस्त किया जाय तथा आरक्षण रोस्टर के अनुसार  तथा तालीमी मरकज पर उर्दू प्राइमर,शिक्षा स्वंय सेवी के प्रशिक्षण व् प्रबोधन के लिए उर्दूभाषी प्रशिक्षक का चयन साथ ही प्राथमिकता के आधार पर  अल्पसंख्यक  के0 आर0 पी0 का  चयन किया जाय।
सरकार के निदेशानुसार सम्पूर्ण साक्षरता अभियान कार्यक्रम के तहत प्रत्येक प्रखण्ड में एक स्थानीय,योग्य व् सक्षम व्यक्ति को के0 आर0पी0 में बहाल करना था।जिसकी योग्यता कम से कम स्नातक होनी चाहिए थी।किन्तु  शिक्षा विभाग की मनमानी के कारण एक भी अल्पसंख्यक तथा अनुसूचित जाति को के0 आर0 पी0 नहीं बनाया गया।एक ही प्रखंड से 4-4  व्यक्ति को के0 आर0 पी0 बनाया गया ,  वही किसी प्रखण्ड में एक भी नहीं।अधिकांश के0 आर0 पी0 मात्र मैट्रिक व् इंटर पास है। यह घोर अनियमितता है ।

No comments:

विशिष्ट पोस्ट

सामान्य(मुस्लिम)जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को हटाने से संबंधित निर्णय को वापस ले सरकार वरना सड़क से लेकर संसद तक होगा आंदोलन :- मोहम्मद कमरे आलम

आठ वर्षों से कार्य कर रहे सामान्य मुस्लिम जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को एक झटके में बिहार सरकार द्वारा सेवा से यह कह कर हटा दिया...