Tuesday, November 13, 2018

नागेन्द्र कुमार पासवान, मुख्य कार्यक्रम समन्वयक, राष्ट्रीय संयोजक अखिल भारतीय साक्षर भारत मिशन कर्मी महासंघ ने प्रशांत किशोर को वार्ता कराने का लिखा पत्र

बिहार में मा0 नितीश कुमार जी के नेतृत्त्व में NDA की सरकार में तथा जदयू के संगठन में चुनावी रणनीतिकार विश्लेषक के रूप में  फिलवक्त आपकी भूमिका महत्वपूर्ण है।

बिहार की राजनीति संक्रमण काल की दौर से गुजर रही है।यहाँ की समाजिक, राजनितिक डायवरसिटी से आप परिचित है।बिहार में सत्ता पक्ष भाजपा+जदयू+लोजपा+रालोसपा गठबंधन में तल्खी बढ़ गयी है।सीट शेयरिंग पर यद्यपि जदयू ने बाजी मार ली है किन्तु उपेन्द्र कुशवाह के नेतृत्त्व मे कुशवाहा समाज जदयू के विरोध में सड़क पर आंदोलन कर रहे है।
   पूर्व मुख्यमन्त्री जीतन राम मांझी जी के नेतृत्त्व में तथा बीजेपी दलित विरोधी ब्राह्मणवादी आचरण के विरुद्ध देश स्तर पर भीम आर्मी ,भीम सेना के बैनर तले अनुसूचित जाति/जन जाति NDA के विरोध में आक्रामक है।
   बीजेपी के साथ अलाइंस के कारण मुस्लिम मतदाता NDA के विरोध में है।
   बिहार सरकार में  तथाकथित मा0 मुख्यमन्त्री जी के अति विश्वासनीय  कुछ नौकरशाह सरकार विरोधी गतिविधियों में संलिप्त होकर विश्वासघात कर रहा है।तथा गलत तरीके से मिस कनविंस कर दिग्भ्रमित करने का काम कर रहा है जिससे जदयू का परम्परागत वोट भी टूट रहा है।।
   महोदय, बिहार में साक्षर भारत मिशन के 19000 कर्मी प्रेरक समन्वयक जिसमे सभी जाति /मत के लोग है को जन विरोधी निदेशक जन शिक्षा बिहार श्री विनोदानंद झा जी ने अकारण अनाधिकृत अवैधानिक व् अमानवीय तरीका से कार्यमुक्त करने का तुगलकी फरमान जारी कर इनके परिवार को भुखमरी की स्थिति में ला खड़ा किया है।
 
शनद रहे यह वही प्रेरक समन्वयक है जिन्होंने:~
1. विश्व विख्यात मानव श्रृंख्ला बनाकर कीर्तिमान स्थापित किया तथा बिहार का नाम लिमका बुक ऑफ़ रिकॉर्ड में दर्ज करवाया।
2. मतदाता जागरूकता अभियान चलाया जिससे मतदान %में वृद्धि के कारण जदयू दुबारा सत्ता में आई
3. शिक्षा का अधिकार अधिनियम का व्यापक प्रचार प्रसार किया फलतः साक्षरता वृद्धि दर में सर्वाधिक उपलब्धि के लिए बिहार को राष्ट्रीय अवार्ड मिला।
4. मद्यनिषेध अभियान का गाँव- गाँव गली गली नारा लेखन नुक्कड़ नाटक चौपाल संगोष्ठी सांस्कृतिक कार्यक्रम द्वारा व्यापक प्रचार प्रसार कर सफल बनाया और बिहार को राष्ट्रीय अवार्ड दिलवाया।
5. बाल विवाह एवम् दहेज़ प्रथा उन्मूलन अभियान को सफल बनाया।
6. चंपारण सत्याग्रह शताब्दी वर्ष के अवसर पर  घर घर दस्तक देकर "बापू आपके द्वार" कार्यक्रम के माध्यम से बापू का सन्देश घर घर पहुचाया।
    इतनी ऊर्जावान विशवसनीय सक्षम जनसमूह को माननीय मुख्यमन्त्री जी ने उपेक्षित  उपहास करने का काम  किया है ,जो मानवीय दृष्टिकोण से अपराध है।जिसके कारण 19000 परिवार वर्तमान सरकार के खिलाफ होने पर मजबूर है।
     महोदय,यह केवल 19000 नहीं है।साक्षर भारत का पंचायत प्रखण्ड व् जिला स्तर पर संगठित और सक्रीय व्यापक नेटवर्किंग है।
यदि यह बिहार को राष्ट्रिय अवार्ड दिला सकता है,जदयू को दुबारा सत्ता में ला सकता है तो मरता क्या नही कर सकता यदि समय रहते डैमेज  कण्ट्रोल नहीं किया जाता है तथा साक्षर भारत के 19000 प्रेरक समन्वयक की सेवा नियमित /समायोजित नहीं की जाती है आसन्न लोक सभा चुनाव में हम साक्षर भारत के तमाम प्रेरक समन्वयक अपना जौहर दिखाएँगे और NDA प्रत्यासी को हराकर नितीश कुमार मुख्यमन्त्री को सत्ताच्युत कर देंगे। यह चुनौती है।
 विषय गम्भीरता को देखते हुए साक्षर भारत के प्रेरक समन्वयको के प्रतिनिधि साथी के साथ भी बैठक कर जन संवाद कर सकते है।
  महोदय आग्रह है  इस मौजू पर  हमारे नेतृत्व कारी, प्रतिनिधि साथियो की वार्ता माननीय मुख्यमन्त्री जी से मुलाक़ात कराकर वार्ता करवाने हेतु तिथि व् समय निर्धारित किया जाय।

राजनीतिक विश्लेषक
नागेन्द्र कुमार पासवान,
मुख्य कार्यक्रम समन्वयक,
राष्ट्रीय संयोजक
अखिल भारतीय साक्षर भारत मिशन कर्मी महासंघ
सह-महामन्त्री ,भारतीय मजदूर संघ सीतामढ़ी

विशिष्ट पोस्ट

सामान्य(मुस्लिम)जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को हटाने से संबंधित निर्णय को वापस ले सरकार वरना सड़क से लेकर संसद तक होगा आंदोलन :- मोहम्मद कमरे आलम

आठ वर्षों से कार्य कर रहे सामान्य मुस्लिम जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को एक झटके में बिहार सरकार द्वारा सेवा से यह कह कर हटा दिया...