Click here online shopping

Thursday, February 14, 2019

पेंशनधारियों से प्रियंका गांधी का वादा, केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनी तो बहाल होगी पुरानी पेंशन व्यवस्था

पेंशनधारियों से प्रियंका गांधी का वादा, केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनी तो बहाल होगी पुरानी पेंशन व्यवस्था

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा है कि अगर केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनती है तो पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल की जाएगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस मुद्दे को चुनावी घोषणापत्र में भी शामिल करेगी।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा है कि अगर केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनती है तो पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल की जाएगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस मुद्दे को चुनावी घोषणापत्र में भी शामिल करेगी। दरअसल लखनऊ में बुधवार को कांग्रेस महासचिव ने यहां के कर्मचारी संगठनों के प्रतिनिधिमण्डल से मुलाकत की। मुलाकात के दौरान ही कर्मचारियों ने पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाली की मांग की। जिस पर उन्होंने इस मुद्दे को अगले लोकसभा चुनाव के लिये पार्टी के घोषणापत्र में शामिल करने का आश्वासन दिया।

अपने प्रभार वाले लोकसभा क्षेत्रों में पार्टी की स्थिति की समीक्षा में जुटी प्रियंका ने नेशनल मूवमेंट फॉर ओल्ड पेंशन स्कीम (एनएमओपीएस) के प्रतिनिधिमण्डल से मुलाकात की। मुलाकात के बाद संगठन के अध्यक्ष विजय कुमार बंधु ने कहा कि पुरानी पेंशन व्यवस्था को तत्कालीन अटल बिहारी वाजपेयी सरकार ने समाप्त करके अंशदाई पेंशन व्यवस्था लागू की थी। यह व्यवस्था किसी के भी हित में नहीं है। न तो कर्मचारियों के हित में है और न ही देश और सरकार के। उन्होंने बताया कि पूर्व में कर्मचारियों को उनकी आखिरी तनख्वाह का कम से कम 50 प्रतिशत हिस्सा प्रतिमाह पेंशन के रूप में मिलता था, मगर पुरानी पेंशन व्यवस्था खत्म होने से यह आर्थिक सुरक्षा खत्म हो गयी है।

बंधु ने कहा कि प्रियंका ने उनकी बात को ध्यान से सुना और कहा कि जब 40 साल तक सेवा करने के बाद भी कर्मचारी का भविष्य सुरक्षित नहीं है तो यह दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने बताया कि प्रियंका ने आश्वासन दिया कि कांग्रेस केन्द्र की सत्ता में वापसी के बाद पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल करेगी। बता दें कि देश में करीब 60 लाख पेंशनधारी हैं, जिनमें से 13 लाख उत्तर प्रदेश में हैं।

No comments:

विशिष्ट पोस्ट

सामान्य(मुस्लिम)जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को हटाने से संबंधित निर्णय को वापस ले सरकार वरना सड़क से लेकर संसद तक होगा आंदोलन :- मोहम्मद कमरे आलम

आठ वर्षों से कार्य कर रहे सामान्य मुस्लिम जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को एक झटके में बिहार सरकार द्वारा सेवा से यह कह कर हटा दिया...