Click here online shopping

Sunday, March 03, 2019

बिहार के चयनमुक्त तालीमी मरकज़ शिक्षा स्वंय सेवकों की सेवा बहाल की जाए

बिहार के चयनमुक्त तालीमी मरकज़ शिक्षा स्वंय सेवकों की सेवा बहाल की जाए क्योंकि की वक़्त के साथ - साथ इनकी हालत बद से बदतर होती जा रही है परिवारों के सामने भुखमरी की हालत पैदा हो गई है।इनकी बहाली सरकार के निर्देशों के मुताबिक ही हुई थी और सरकार के पदाधिकारियों के ज़रिए ही बहाली की गई थी ये खुद से बहाल नहीं हो गए थे।आठ साल तक निरन्तर सेवा लेने के बाद अचानक हटा देना नियम संगत नहीं कहा जा सकता है।अगर सामान्य जाति के मुसलमानों के बहाली का प्रावधान नहीं होता तो सम्पूर्ण बिहार में करीब तीन हज़ार पाँच सौ लोगों की बहाली नहीं होती ।जहां तक भूलवस होने की बात है तो भूल एकाध मामले में हो सकती है मगर ऐसा नहीं है सम्पूर्ण बिहार में सामान्य मुस्लिम की बहाली हुई जिस से वाज़े होता है कि सामान्य मुस्लिमों के बहाली का प्रावधान था अगर ऐसा नहीं होता तो पूरे बिहार में सामान्य मुस्लिमों की बहाली नही होती।

No comments:

विशिष्ट पोस्ट

सामान्य(मुस्लिम)जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को हटाने से संबंधित निर्णय को वापस ले सरकार वरना सड़क से लेकर संसद तक होगा आंदोलन :- मोहम्मद कमरे आलम

आठ वर्षों से कार्य कर रहे सामान्य मुस्लिम जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को एक झटके में बिहार सरकार द्वारा सेवा से यह कह कर हटा दिया...