Saturday, February 09, 2019

तीन हज़ार पाँच सौ मुस्लिम परिवारों की आहें नीतीश कुमार की सरकार को लील जाएगी :- मोहम्मद कमरे आलम

तीन हज़ार पाँच सौ मुस्लिम परिवारों की आहें नीतीश कुमार की सरकार को लील जाएगी। मोहम्मद कमरे आलम ने कहा कि सरकार बेरोज़गार को रोजगार देती है न कि रोजगार देकर बेरोज़गार करती है मगर नीतीश सरकार रोज़गार छिनने का काम करती है और कर रही है।इस सरकार ने 3500 मुस्लिम सामान्य जाति के लोगों को तालीमी मरकज़ की नौकरी 2008 से 2013 के बीच देकर एक साजिश के तहत 2018 में छीन ली और 3500 मुस्लिम परिवारों को सड़क पर भिक माँगने के लिए खड़ा कर दिया है।
श्री आलम ने कहा कि "कुफ़्र की हकुमत तो चल सकती है मगर ज़ुल्म की हकुमत नहीं " नीतीश कुमार की हकुमत तो कुफ़्र के साथ साथ ज़ुल्म की हकुमत भी है इसका आगे जारी रहना मुमकिन नहीं इस सरकार को लोगों की आहें ले डूबेगी।
मालूम हो कि वर्ष 2008 में मुस्लिम समुदाय के 06 से 10 वर्ष तक के बच्चों को मुख्य धारा की शिक्षा सुनिश्चित करने के लिए बिहार सरकार ने तालीमी मरकज़ की स्थापना की थी और बच्चों को मुख्य धारा की शिक्षा देने के लिए शिक्षा स्वयं सेवक के नियोजन का प्रावधान किया था, शिक्षा स्वंय सेवक नियोजन के लिए  सामाजिक और आर्थिक आधार रखा गया था उसी आधार पर नियोजन भी किया गया था।
डेढ़ साल बाद एक सोची समझी साजिश के तहत 2008 में निर्गत मार्गदर्शिका को बिना निरस्त किए एक नया मार्गदर्शिका 2009 निर्गत कर दिया जाता है जिसमें ये प्रावधान किया जाता है कि शिक्षा स्वयं सेवक के रूप में परिशिष्ट 1 में सम्मिलित मुस्लिम जातियों का ही नियोजन किया जाएगा।

न्यायदेश आने से पूर्व तालीमी मरकज़ शिक्षा सेवक की बहाली करना अनुचित है :- मोहम्मद कमरे आलम

मोहम्मद कमरे आलम ने एक ब्यान जारी कर कहा है कि तालीमी मरकज़ में विगत आठ साल से काम कर रहे शिक्षा स्वंय सेवक (सामान्य जाति) अल्पसंख्यक मुस्लिम को वर्ष 2018 में निदेशक जन शिक्षा पटना के आदेश पर यह कहते हुए सेवा से सेवा मुक्त कर दिया गया कि आप सामान्य जाति के हैं इस लिए आप का नियोजन अवैध है सेवा से हटाए जाने के बाद हटाये गए शिक्षा स्वंय सेवक सामान्य इंसाफ के लिए माननीय उच्च न्यायालय पटना में रिट याचिका दायर किये हुए हैं जहाँ से आदेश आना अभी बाकी है इसी बीच बिहार सरकार द्वारा तालीमी मरकज़ के रिक्त पदों पर बहाली की प्रक्रिया शुरू कर दी है जो बिल्कुल गलत है।उन्होंने कहा कि न्यायदेश आने से पूर्व तालीमी मरकज़ शिक्षा सेवक की बहाली करना बिल्कुल ही अनुचित है। मोहम्मद कमरे आलम ने सरकार से माँग किया है कि न्यायदेश आने तक बहाली प्रक्रिया पर रोक लगाया जाए।

परिहार प्रखण्ड के शिक्षकों के लिए आवश्यक सूचना

परिहार प्रखंड में विभागीय लापरवाही अथवा अन्य किसी कारण से शिक्षकों का काम लम्बित रहना व विभिन्न माध्यमों से प्राप्त हो रही सूचना के अनुसार अपने साथियों का शोषण होने की बात लगातार सुनने को मिल रहा है।जिला कार्यालय में भी परिहार के शिक्षकों का लगातार दौड़ लगाते देखने को मिल रहा है।इससे मैं व्यक्तिगत रूप से काफ़ी मर्माहत हूँ।साथ ही संघीय पदाधिकारी भी मर्माहत होंगे ही।इसलिए व्यक्तिगत रूप से हमने निर्णय लिया है कि आज  दिनांक 09.02.2019 रोज़ शनिवार को अपराह्न 2 बजे बी आर सी परिहार के प्रांगण में सीधा अपने साथियों से सम्पर्क स्थापित करूँगा।जिन साथियों का किसी भी स्तर का कोई समस्या हो आप निश्चित रूप से आएँ और अवगत कराएँ।संगठन आपसे रुबरू होकर पूरी ईमानदारी से आपके समस्याओं के समाधान कराने का प्रयास करेगा।*
        *अतः परिहार प्रखंड के सम्मानित अध्यक्ष ,प्रखंड कमिटी के सभी पदाधिकारी एवं सक्रीय साथी और सम्मानित का. जिला अध्यक्ष सह -प्रधान महासचिव ,जिला कोषाध्यक्ष,जिला उपाध्यक्ष  ,संयुक्त सचिव सहित सीतामढ़ी जिला कमिटी को सूचनार्थ प्रेषित ।साथ ही आग्रह होगा कि आप सभी सम्मानित संघीय पदाधिकारी उक्त कार्यक्रम को सफल बनाने में पूर्ण सहयोग करेंगें।*
*:-आपका-*
*नवीन कुमार सिंह*
*प्रदेश उपाध्यक्ष *
*बिहार पंचायत -नगर प्रारम्भिक शिक्षक संघ (मूल)*mob.9472248634*

Friday, February 08, 2019

ज़िला पदाधिकारी सीतामढ़ी की अध्यक्षता में अल्पसंख्यक कल्याण योजनाओं की समीक्षात्मक बैठक आयोजित

सीतामढ़ी। डॉ रणजीत कुमार सिंह ज़िला पदाधिकारी सीतामढ़ी की अध्यक्षता में अल्पसंख्यक कल्याण योजनाओं की समीक्षात्मक बैठक  समाहरणालय विमर्श हाल में आहूत की गई, बैठक में प्रधान मंत्री जन कल्याण कार्यक्रम के अधीन कार्यरत योजनाओं में आंगनवाड़ी भवन,अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भवन, स्वास्थ्य उप केंद्र भवन, सदभाव मंडप को समय सीमा के अंदर विशेष अभी रुचि ले कर पूर्ण करने का निर्देश ज़िला पदाधिकारी ने दिया । जिन योजनाओं के लिए भूमि की अनुपलब्धता की बात आई तो सभी अंचल अधिकारीयों से अविलंब भूमि चिन्हित कर कार्यकारी एजेंसी को अवगत कराते हुए निर्माण कार्य करने का निर्देश दिया गया। किसी भी विलंब की संपूर्ण जवाबदेही संबद्ध की मानी जाएगी । 
योजनाओं के  भवन निर्माण के लिए सरकारी भूमि की अनुपलब्धता की स्थिति में जनसाधारण के बीच  भू= दाताओं से संपर्क कर भूमि दान में प्राप्त करने हेतु मुहिम चलने का भी निर्देश दिया गया। दान की गई भूमि पर निर्मित भवन को भू= दाता के नाम से नामित करने का सुझाव भी ज़िला पदाधिकारी ने दिया।
 बैठक में एक महत्त्वपूर्ण बिंदु ज़िले के शेष कब्रिस्तानों की घेराबंदी से संबंधित था, जिन क़ब्रिस्तानों की योजनाएं जारी है उसे अविलंब पूरा करने एवम् विवादास्पद क़ब्रिस्तानों की भूमि से संबंधित मामले को विशेष रूचि ले कर निपटने की हिदायत सभी अंचल अधिकारी को डी गई।
इस बैठक में मुख्य रूप से कार्यपालक अभियंता ग्रा0 अभि0 संग0कार्य प्रमंडल सीतामढ़ी, पुपरी एवम् कार्यपालक अभियंता भवन प्रमंडल सीतामढ़ी , ज़िला के सभी अंचल अधिकारी तथा ज़िला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधकारी निरंजन कुमार अपने कार्यालय कर्मियों के साथ उपस्थित थे।

Thursday, February 07, 2019

दलित महादलित एवं अतिपिछड़ा अल्पसंख्यक अक्षर आँचल योजना की मार्गदर्शिका 2018 का लागू किया जाना शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 की अनदेखी है :- मोहम्मद कमरे आलम

दलित महादलित एवं अतिपिछड़ा अल्पसंख्यक अक्षर आँचल योजना की मार्गदर्शिका 2018 का लागू किया जाना शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 की अनदेखी है :- मोहम्मद कमरे आलम

Tuesday, February 05, 2019

भी 2 मॉल के सामने जिलापरिषद कार्यालय परिसर में बनेगा सुपर सिटी मॉल

भी 2 मॉल के सामने जिलापरिषद कार्यालय परिसर में बनेगा सुपर सिटी मॉल।यह मॉल जिला परिषद के आंतरिक संसाधन से बनेगा।मॉल के लिए मॉडल प्रारूप जारी कर दिया गया है।जिला परिषद का कार्यालय भी इसी मॉल के सबसे ऊपरी तल्ले पर होगी। मॉल में व्यवसायिक कार्य हेतू स्थान या दुकान आरक्षित करने हेतु दिशा निर्देश एवम तिथि आदि की घोषणा की जाएगी।बैर्गेनिया,पुपरी  एवम सुरसंड मे भी जिला परिषद की खाली जमीन को चिन्हित कर आधुनिक मॉल निर्माण हेतू कार्ययोजना तेजी से बनाई जा रही है।सीतामढ़ी को नगर निगम बनाने हेतू प्रस्ताव भेजा जा चुका है।

Sunday, February 03, 2019

सीतामढ़ी में 300 बेड के अस्पताल बनने का रास्ता साफ

सीतामढ़ी में 300 बेड के अस्पताल बनने का रास्ता साफ
भवन का प्रारूप स्वीकृत.....अगले कुछ दिनों में तिथि निर्धारित कर होगा शिलान्यास...........सरकार के निर्देश के आलोक में डीएम डॉ रणजीत कुमार के प्रयास के परिणाम स्वरूप जिला में अब शीघ्र ही आधुनिक सुविधाओं से युक्त 300 बेड का अस्पताल का निर्माण कार्य शुरू होगा।गौरतलब हो कि डीएम इस सबंध में कई बार वरीय पदाधिकारियो के साथ सदर अस्पताल  में स्थान चयन हेतु भ्रमण कर चुके है।सदर अस्पताल के जर्जर एवम पुराने भवनों को तोड़कर एवम कुछ चिन्हित किये गए खाली स्थानो पर बनेगा 300 बेड का अस्पताल,जिसमे आईसीयू, आधुनिकऑपरेशन थियेटर,सिविल सर्जन कार्यालय आदि होंगे।सुरक्षा की सभी व्यवस्था की जाएगी।डीएम स्वयं लगातार संबंधित विभाग से संपर्क बनाए हुए है। इस अस्पताल के बन जाने से सीतामढ़ी के साथ साथ आस पास के जिलों के लोगो को भी स्वास्थ्य सुविधाओं फायदा मिलेगा।डीएम डॉ रणजीत कुमार सिंह ने बताया कि मधुवन में जीएनएम एवम एएनएम आवासीय विद्यालय खोलने हेतु भी स्वीकृति मिल गई है।इस संबंध में सभी आवश्यक तैयारियां की जा रही है।उन्होंने बताया कि जिले में कई हेल्थ एंड वेलनेस सेन्टर खोले गए है।आयुष्मान भारत योजना के तहत अब सदर अस्पताल,पीएचसी के अलावा सभी कॉमन सर्विस सेंटर पर भी गोल्डन कार्ड हेतू आवेदन  भरा जा सकता है।

विशिष्ट पोस्ट

सामान्य(मुस्लिम)जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को हटाने से संबंधित निर्णय को वापस ले सरकार वरना सड़क से लेकर संसद तक होगा आंदोलन :- मोहम्मद कमरे आलम

आठ वर्षों से कार्य कर रहे सामान्य मुस्लिम जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को एक झटके में बिहार सरकार द्वारा सेवा से यह कह कर हटा दिया...